मछली एवं मधुमक्खी पालन पर प्रशिक्षण शीघ्र – डॉ दिव्यांशु

155

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार योजना के तहत प्रशिक्षण समन्न

दरभंगा। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार योजना के अंतर्गत कृषि विज्ञान केन्द्र जाले द्वारा प्रवासियों के लिए मशरूम व सब्जी उत्पादन विषय पर आयोजित प्रशिक्षण का समापन शुक्रवार को प्रशिक्षण प्रमाणपत्र के वितरण के साथ सम्पन्न हो गया। विदित हो कि केवीके जाले अन्तर्गत स्थित सिंहवाड़ा प्रखण्ड के सनहपुर में आयोजित तीन दिवसीय मशरूम उत्पादन प्रशिक्षण का नेतृत्व कृषि वैज्ञानिक डॉ. आरपी प्रसाद व डॉ. सीमा प्रधान ने किया। वहीं जाले के धनकौल में आयोजित सब्जी उत्पादन प्रशिक्षण का नेतृत्व कृषि वैज्ञानिक डॉ. एपी राकेश व कुमारी अम्बा ने किया। दोनों प्रशिक्षण में 35/35 कुल 70 प्रशिक्षणार्थियो ने भाग लिया। केवीके जाले अध्यक्ष डॉ. दिव्यांशु शेखर ने मशरूम उत्पादन विषय पर आयोजित समापन कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मशरूम की सामूहिक खेती के फायदे गिनाए और प्रशिक्षुओं को समूह बनाकर मशरूम का उत्पादन करने सुझाव दिया। ताकि इसके विपणन में परेशानी नहीं हो। उन्होंने कहा कि खेती बिना खेत का पर्याय है मशरूम उत्पादन, यह लघु एवम भूमिहीन किसानों के लिए एक वरदान के समान है। उन्होंने सब्जी उत्पादकों से आधुनिक तरीके फॉली टनेल, फॉली हाउस व नेट हाउस की मदद से नर्सरी उत्पादन कर असमय विभिन्न सब्जियों का उत्पादन कर अच्छी आय प्राप्त करने का सुझाव दिया। उन्होंने बताया कि जल्द ही मछली व मधुमख्खी पालन का तीन दिवसीय प्रशिक्षण प्रवासियों के लिए चलाया जाएगा। इच्छुक प्रवासी केविके जाले पर पहुचकर अपना अपना निबन्धन करा सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here