मृदा परीक्षण एवम खादय प्रसंस्करण तकनीक पर तीन दिवसीय प्रशिक्षण आरंभ, 70 प्रतिभागी हुए शामिल

100

दरभंगा। जिले के केविके जाले में प्रवासी मजदूरों के लिए मृदा संरक्षण व परीक्षण तकनीक एवम खाद्य प्रसन्सकरण तकनीक विषय पर तीन दिवसीय निःशुल्क प्रशिक्षण मंगलवार से शुरू किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ डॉ. राजेन्द्र प्रसाद केन्द्रीय कृषि विश्वविद्यालय पूसा के निदेशक प्रसार शिक्षा डॉ. एम एस कुंडू ने जूम एप के माध्यम से किया। विदित हो कि लॉक डाउन के कारण घर लौटे मजदूरों के लिए गरीब कल्याण योजना के तहत जारी तीन दिवसीय प्रशिक्षण के तहत 35 – 35 प्रतिभागियों के लिए दो अलग अलग प्रशिक्षण शुरू किया गया है जिसमे प्रखण्ड क्षेत्र के विभिन्न पंचायतो के 70 प्रवासी भाग ले रहे है। मौके पर डॉ. कुंडू ने कहा कि कोविड-19 एवम बाढ़ विभीषिका को देखते हुए इस तरह के प्रशिक्षण का महत्व और अधिक बढ़ जाता है। इस प्रशिक्षण से प्राप्त ज्ञान के माध्यम से कृषक बन्धु व प्रवासी रोजगार के विभिन्न आयामो को अपनाकर अपना जीवकोपार्जन कर सकते है। आवश्यकता है कि केविके से तकनीकी ज्ञान प्राप्त कर सरकार के विभिन्न योजनाओं से लाभ उठाकर अपने पास उपलब्ध संसाधनों को समाहित कर अपने सहित अन्य लोगो के लिए रोजगार के अवसर पैदा करने की। इस अवसर पर केंद्र के अध्यक्ष डॉ. दिव्यांशु शेखर ने बताया कि प्रशिक्षण में प्रखण्ड के कुल 70 प्रवासी भाग ले रहे है। उन्होंने प्रवासियों से अनुरोध किया कि इच्छुक प्रवासी कृषि विज्ञान केंद्र जाले में पहुचकर अपना अपना निबन्धन करावे। उन्होंने बताया कि यह प्रशिक्षण पूर्णतः निःशुल्क है तथा कृषि व्यवसाय में विभिन्न विषयों जैसे मशरूम उत्पादन, केचुआ खाद उत्पादन, मधुमख्खी, मछली व मुर्गा पालन, समेकित कृषि प्रणाली आदि विषयों पर प्रशिक्षण दिया जाएगा।इस अवसर पर डॉ. एपी राकेश, डॉ. आरपी प्रसाद, डॉ. सीमा प्रधान,डॉ. चन्दन कुमार, संजीव कुमार, पंकज कुमार, दीपक कुमार आदि मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here