बिहारियों को बिहार में मिले रोजगार हमारी पहली प्राथमिकता – डॉ प्रेम

235

बिहारियों को बिहार में मिले रोजगार हमारी पहली प्राथमिकता – डॉ प्रेम, वीसी के माध्यम से कुलपति से ली जानकारी
समस्तीपुर। बिहार के कृषि मंत्री डॉ प्रेम कुमार एवं डा राजेंद्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डा रमेश चंद्र श्रीवास्तव की वीडियो कांफ्रेंसिंग का माध्यम से एक बैठक संपन्न हुई। बैठक में कृषि मंत्री ने लाक डाउन के दौरान बिहार वापस लौटे मजदूरों के लिये विश्व विद्यालय द्वारा किये जा रहे प्रयासों की सराहना की। उन्होंने कहा कि बिहार के सभी लोगों को बिहार में ही रोजगार दिलाना उनकी प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र और राज्य सरकार ने कई योजनायें बनाई हैं। उन योजनाओं को कुलपति डॉ श्रीवास्तव कै नेतृत्व में वैज्ञानिकों की टीम सफल कर रही हैं। साथ ही कहा कि मशरूम उत्पादन, बकरी पालन, सोयाबीन दूध उत्पादन, कृषि यंत्रों की मरम्मती आदि को लेकर विभिन्न कृषि विज्ञान केंद्र प्रशिक्षण चला रहे हैं। जिससे प्रवासी मजदूरों को रोजगार मिल रहा है। प्रवासी मजदूरों के परिवार के महिलाओं के लिये भी विशेष तरह के प्रशिक्षण योजनायें बनाई गयी है। ये सभी महिलायें पहले सब्जी बेचने आदमी का काम करती थी अब इनमें से कई मास्क बनाकर आमदनी कर रही हैं। कृषि मंत्री डॉ कुमार ने कहा कि बिहार सरकार के सभी प्रयास कृषि केंद्रित हैं। किसानों के हित में कई योजनायें बनाई गयी है। किसानों को पूंजी की कमी न पड़े इसके लिये केसीसी के माध्यम से पैसे भी वितरित किये जा रहे हैं। केंद्र सरकार की ओर से किसानों के खाते में भी सहायता राशि भेजी गयी है जिसके कार्य किसानों के खेती में किसी तरह की कोई समस्या नहीं हो रही है। राज्य सरकार किसानों को बाजार से जोड़ने की योजना पर भी काम कर रहीं है और इस क्षेत्र में सफलता ही मिल रही है। किसानों को खेती से जुडे़ उद्योग लगाने के लिये भी प्रोत्साहित किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here