कोरोना और बाढ़ के बीच चुनाव होगा आत्मघाती – डॉ कनुप्रिया

121
डॉ कनुप्रिया मिश्रा

समस्तीपुर। अनलॉक के साथ तमाम सावधानियों के बीच बढ़ते कोरोना संक्रमण और इससे हो रही लगातार मौतों को देखते हुए लॉक डाउन 5 की घोषणा तो हुई मगर बेकार। इससे न तो संक्रमित लोगों की संख्या थम रही है न इससे मरने वालों की संख्या रुक रही है। सरकारी आंकड़ों को ही सच माने तो भी देश में रोजाना 35 हजार से ज्यादा कोरोना के नए मरीज सामने आ रहे हैं। अब तक भारत में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या 11 लाख से ज्यादा हो चुकी है। जबकि बिहार में यह आंकड़ा 26 हजार के आसपास पहुंच चुकी है। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने भी माना है कि भारत में कोरोना का कम्युनिटी स्प्रेड शुरू हो गया है। मगर सरकार जनता को कोरोना से निजात दिलाने की जगह उसे उसके हाल पर छोड़ चुनावी बिसात बिछाने में जुट गई है। डॉ आरपी मिश्रा स्वास्थ्य सेवा ट्रस्ट एवं रोटरी क्लब ऑफ समस्तीपुर की सेक्रेटरी डॉ कनुप्रिया मिश्रा ने उक्त बातें संवाददाता से बिहार के मौजूदा हालत और सरकार की चुनावी व्यस्तता पर बातचीत के दौरान उक्त बातें कही। उन्होंने कहा आम आदमी ही नहीं बड़े बड़े लोग यथा नेता, अधिकारी, कर्मचारी व मंत्री सभी पॉजिटिव हो रहे हैं। ऐसे में लगातार जन सरोकार से जुड़े हमेशा आम लोगों के बीच रहने वाले लोगों यथा डॉक्टर, स्वास्थ्य कर्मी, पुलिस कर्मी, और मीडिया कर्मी संक्रमित हो जाये तो आश्चर्य है। जिनके पास न कोई सुरक्षा किट है न कोई बचाव का साधन। डॉ मिश्रा ने कहा कि कोरोना से लड़ने का दम भरते भरते अब कोरोना के साथ जीने की बात कही जाने लगी है, इसका तो यही अर्थ हुआ कि सरकार ने हाथ खड़े कर दिए, जनता जिए या मरे। इसी बीच हर वर्ष की तरह बाढ़ ने भी कई जिलों में दस्तक दे दी है। आसन्न बाढ़ के संकट और कोरोना के दो पाटों में जनता पिस रही है और सरकार ने ससमय चुनाव कराने की जिद्द के तहत वह चुनावी बिसात बिछाने में व्यस्त है। कोई सरकार इतनी संवेदनहीन कैसे हो सकती है। बाढ़ तो माना की हर साल की तरह इस साल भी चुनाव आने तक खत्म हो सकती है मगर कोरोंना से बचाव की कवायद का क्या होगा? निश्चित ही इससे खतरनाक स्तर पर संक्रमण बढ़ेगा। डॉ मिश्रा ने चुनाव रद्द करने की अपील करते हुए कहा कि मौजूदा हालात में सुरक्षा के उपायों की अनदेखी बिल्कुल नहीं करें सतर्क रहें, और पूरी सावधानी बरतें। इस महामारी के प्रकोप से बचने के लिए स्वच्छता के नियमो का पालन करें, बहुत ही जरूरी हो तभी घर से निकलें, फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करें, भीड़ भाड़ वाली जगह पर मास्क अवश्य लगाएं, बाहर से लौटने पर हाथ अच्छी तरह से धोएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here