पॉली टनेल,नेट हाउस,व पॉली हाउस की सहायता से सब्जी उत्पादन होगा लाभकारी – डॉ दिव्यांशु

80

सब्जी उत्पादन पर तीन दिवसीय प्रशिक्षण सम्पन्न

प्रशिक्षुओं को प्रमाणपत्र देते अतिथि व अन्य

दरभंगा। भारत सरकार द्वारा गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत प्रवासी मजदूरों के लिए चलाए जा रहे प्रशिक्षण कार्यक्रम के अन्तर्गत केवीके जाले में आयोजित सब्जी उत्पादन विषय पर तीन दिवसीय प्रशिक्षण का समापन बुधवार को हो गया। इस अवसर पर कृषि विज्ञान केंद्र के अध्यक्ष डॉ. दिव्यांशु शेखर ने अपने संबोधन में कहा कि सब्जियों के मुख्य समय से पूर्व व बाद बाजार भाव अच्छा होता है। इसलिए कृषक बन्धु पॉली टनेल,नेट हाउस,व पॉली हाउस को अपना कर मुख्य समय से कुछ पूर्व व बाद में उपज लेकर अच्छी आय प्राप्त कर सकते है। उन्होंने कहा कि सब्जी की खेती के लिए सब्जियो की स्वस्थ नर्सरी तैयार करना भी बहुत महत्वपूर्ण है। इस दौरान उन्होंने सभी प्रशिक्षणार्थियों को आवश्यकता पड़ने पर कृषि विज्ञान केंद्र से हर संभव सहायता देने का आश्वासन भी दिया। प्रशिक्षण के समापन पर सभी 35 प्रशिक्षणार्थियों के बीच प्रमाणपत्र का वितरण किया गया। समापन सत्र को सम्बोधित करते हुए जाले पूर्वी के मुखिया आलिया प्रवीण ने कहा कि स्वरोजगार के लिए अपने परंपरागत कृषि में नवीन तकनीक को अपनाकर सब्जी की खेती से भी अच्छी आय प्राप्त की जा सकती है। उन्होंने बताया कि सब्जी की खेती हम लम्बे समय से करते आ रहे है, परन्तु वातावरण के परिवर्तन के कारण नए नए कीट व व्याधियों का प्रकोप फसलो पर बढ़ता जा रहा है। इसके कारण किसानों को भारी नुकसान करना पडता है। इसके लिए उन्होंने सामेकित कीट प्रबन्धन और विशेषज्ञों के सुझाव को अपना कर क्षति को कम करने का सुझाव भी दिए। कार्यक्रम का संचालन कर रहे कीट वैज्ञानिक डॉ. आरपी प्रसाद ने सब्जी की खेती में जैविक कीट प्रबन्धन पर विस्तार से चर्चा किया और जरूरी एहतियात बरतने सहित अन्य सुझाव दिए। मौके पर डॉ. एपी राकेश, डॉ. चन्दन कुमार आदि मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here